Monthly Archives: अप्रैल 2011

अन्ना हजरे के साथ आई भीड़ के खतरे|

मुझे लगता है कि अन्ना हजारे की नीयत में कोई खोट नहीं है लेकिन जिस तरह के लोग अन्ना जी के साथ आये उससे बहुत बड़े खतरे उत्पन्न हो गए हैं क्योंकि जिस तरह के लोग अन्ना जी के साथ आये या जो वर्ग उनके साथ आया सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार करने वाला भी वाही वर्ग है तो उस वर्ग की यह एक चल हो सकती है जिससे कि लोग केवल आइटम सोंग को देखें और मूल कहानी को ही भूल जाएँ |

Advertisements

टिप्पणी करे

Filed under Uncategorized

अन्ना हजरे के साथ आई भीड़ के खतरे|

मुझे लगता है कि अन्ना हजारे की नीयत में कोई खोट नहीं है लेकिन जिस तरह के लोग अन्ना जी के साथ आये उससे बहुत बड़े खतरे उत्पन्न हो गए हैं क्योंकि जिस तरह के लोग अन्ना जी के साथ आये या जो वर्ग उनके साथ आया सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार करने वाला भी वाही वर्ग है तो उस वर्ग की यह एक चल हो सकती है जिससे कि लोग केवल आइटम सोंग को देखें और मूल कहानी को ही भूल जाएँ |

टिप्पणी करे

Filed under Uncategorized